भारत-नेपाल खुली सीमा उपहार, इस पर रहनी चाहिए सबकी नजर

भारत-नेपाल खुली सीमा उपहार, इस पर रहनी चाहिए सबकी नजर

नेपाल के रोतहट में भारत-नेपाल मैत्री संवाद का आयोजन, 15 सूत्री मांग पर बनी सहमति

मुजफ्फरपुर : कारोना के लहर शांत होते ही एक बार फिर भारत-नेपाल रिश्ते की मजबूती की पहल जारी है। भारत-नेपाल पत्रकारों के साझा मंच मीडिया फार बार्ड हार्मोनी की ओर से नेपाल के रोतहट जिला मुख्यालय गौर में भारत नेपाल मैत्री संवाद का आयोजन किया गया। इसमें भारत की ओर से संगठन के संरक्षक मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद, बिहार विधान परिषद के उपनेता पूर्व मंत्री विधान पार्षद देवेशचन्द्र ठाकुर, वीरगंज वाणिज्य दूतावास के महावाणिज्य दूत नीतीश कुमार तो नेपाल से प्रमुख अतिथि खाने-पानी व उर्जा मंत्री ओमप्रकाश शर्मा, कृषि विकास मंत्री योगेन्द्र यादव के साथ बड़ी संख्या मे दोनों देश के संचारकर्मी, पंचायत राज के जनप्रतिनिधि, समाजिक, राजनीतिक संगठन के प्रतिनिधि शामिल रहे। एमएफबीएच की ओर से रिश्ते को लेकर 15 सूत्री मांग पत्र प्रस्तुत किया। सबने उसको ध्वनि मत से पारित किया। मांग पत्र को भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादूर देउवा को सौंपकर उसके निदान की पहल होगी।

एक नजर किस वक्ता ने क्या कहा

मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद ने कहा कि नेपाल-भारत का मित्र है, भारत ने नेपाल को हर संभव सहयोग करता रहा है और आगे भी करता रहेगा। उन्होंने कहा कि सीमा पर हो रही परेशानी को हल करने के लिए दोनों देशों के तरफ से स्थानीय स्तर पर एक कमेटी बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि 2005 से लगाता मीडिया फार बार्डर हार्नेोनी रिश्ते मजबूती की पहल कर रहा। पहल से मोबाइल कॉल रेट कम हुआ, रेलवे लाइन का नेपाल तक विस्तार, काठमांडुू में ट्रोमा सेंटर का निर्माण सहित कई विकास काम भारत के सहयोग से हो रहे है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लगातार नेपाल आकर यहां के विकास में सहयोग कर रहे है। सांसद ने कहा कि भारत और नेपाल के बीच खुली सीमा दोनों देशों के लिए उपहार है इसलिए दोनों देशों के लोगों को यह जरूरत है कि सीमा पर किसी भी तरह का गतिरोध उत्पन्न नही हो एवं गतिविधीयों पर नजर बनाए रखें। लोगों ने सांसद से शिकायत किया की सीमा पर तैनात एस एस बी के जवान का व्यवहार सही नही है। इस पर सांसद ने कहा कि वे साक्ष्य दें उनपर कारवाई हेतु गृह मंत्रालय एवं रक्षा मंत्रालय को वे पत्राचार करेंगे। बिहार विधान परिषद के उपनेता विधान पार्षद पूर्व मंत्री देवेशचन्द्र ठाकुर ने कहा कि दोनों देश में सदियों से बेटी रोटी का संबंध है, मीडिया फॉर बॉर्डर हार्मोनी भारत नेपाल के रिश्ते को मधुर बनाने के लिए जो कार्यक्रम आयोजित करते आ रहे हैं, उसके लिए वे धन्यवाद के पात्र हैं। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दोनो ही भारत और नेपाल के रिश्ते और बेहतर हो ईसके लिए कई विकासात्मक कार्य किए हैं और आगे भी कई सारे कार्य करने की योजना है। उन्होंने कहा कि साझा विकास के लिए वह अपने स्तर से पहल करेंगे। वीरगंज के महावाणिज्य दूत नीतीश कुमार ने कहा कि भारत नेपाल के बीच रिश्ते की मजबूती के लिए इस तरह के आयोजन का बहुत महत्व है। यहां पर आई मांग पर वह अपने स्तर से पहल करेंगे।

नेपाल के अतिथियों ने कही यह बात

मुख्य अतिथि नेपाल प्रदेश दो के खाने-पानी व ऊर्जा मंत्री ओमप्रकाश शर्मा ने कहा कि भारत से मेरा अटूट रिश्ता उस दिन से है, जिस दिन से सीता का विवाह भारत के अयोध्या में रहने वाले श्रीराम से हुआ था। नेपालियों का तीर्थ स्थली भारत है। नेपाल का 80 प्रतिशत आयात भारत से होता है। दोनो देशों के नागरिक एक दूसरे के यहां नौकरी व व्यवसाय करते हैं। कृषि राज्य मंत्री योगेंद्र यादव ने कहा कि भारत और नेपाल के रिश्ते अध्यात्मिक रूप से जुड़े हुए हैं सिता राम का नाम लेने से हीं हर भारतीय और नेपाल के लोगों के दिलों मे बेटी रोटी के संबंध की यादें ताजा हो जाती है। गौर बैरगनिया बॉर्डर पर तैनात एसएसबी बॉर्डर से आने-जाने वालों के साथ मित्रवत व्यवहार न कर वे चाईना पाकिस्तान के बॉर्डर पर रहने वाले के जैसा व्यवहार करता हैं। भारत मेरा अच्छा मित्र है। एसएएसबी जवानों के व्यवहार से रिश्ते पर असर न पड़े यह पहल होनी चाहिए।

इनकी रही भागीदार

जिला समन्वय समिति के सभापति राम एकवाल राय यादव, उपसभापति रामवशिष्ठ यादव, गौर नगरपालिका के उप मेयर किरण ठाकुर, जनसंचार प्राधिकरण के अध्यक्ष श्याम सुंदर यादव, जनकप़ुर टूडे के संपादक वरीष्ठ पत्रकार बृजकिशोर यादव ,जनता दल यूनाइटेड अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के सीतामढ़ी जिलाअध्यक्ष एवं बैरगनिया नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष मो बशीर अंसारी, बैरगनिया के राष्ट्रीय जनता दल नेता देवेंद्र सिन्हा, मीडिया फॉर बॉर्डर हार्मोनी नेपाल के अध्यक्ष अनिल तिवारी, महासचिव रितेश त्रिपाठी, पूर्वी चंपारण जिला अध्यक्ष नवेदू कुमार सिंह, वरीय पत्रकार राजू सिंह, अभिमन्यु कुमार, मुजफ्फरपुर के शिक्षाविद रोहन सिंह, वैशाली के अध्यक्ष प्रभात कुमार, मुजफ्फरपुर के अध्यक्ष रंजन कुमार, उपाध्यक्ष पंकज राकेश, कांटी विधानसभा अध्यक्ष रोहित रंजन, राकेश कुमार, वृजेन्द्र कुमार, बीआरएबीयू मुजफ्फरपुर के छात्र नेता संकेत मिश्रा, एमएफबीएच के कार्यालय प्रभारी सुमित कुमार, पत्रकार महासंघ के संघ रौतहट जिला अध्यक्ष प्रेमचंद्र झा, पूर्व जिला अध्यक्ष शैलेंद्र गुप्ता, मांडवी नेपाल के निदेशक श्री मती रंजू झा, जनकपुर के पत्रकार श्यामसुंदर यादव, पत्रकार प्रभात झा, सत्येंद्र प्रताप सिंह, दिलीप पांडे, प्रभा सिंह, श्रीकांत यादव, बैरगनिया प्रेस क्लब के अध्यक्ष विश्वनाथ चौधरी, नरेश कुमार विनोद कुमार,, इमरान खान मुख्य रूप से शामिल रहे।