खुद की इम्युनिटी करेगी किसी भी बीमारी से बचाव : डायटिशियन चित्रा

खुद की इम्युनिटी करेगी किसी भी बीमारी से बचाव : डायटिशियन चित्रा

शिवहर,
हमारे शरीर में मौजूद रोग प्रतिरोधक क्षमता न सिर्फ मौसमी बल्कि गंभीर बीमारियों के प्रभाव से भी हमें बचाती है। यूं तो यह इम्युनिटी पहले से ही हमारे शरीर में मौजूद रहती है, पर कुछ विशेष प्रयास से इसे और बेहतर किया जा सकता है। एक बेहतर इम्युनिटी पाकर व्यक्ति न सिर्फ आम बीमारियों बल्कि कोविड के किसी भी वैरिएंट से भी सुरक्षा पा सकता है। इस संबंध में सदर अस्पताल की डायटिशियन चित्रा मिश्रा बताती हैं कि अपने शरीर की इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए रोजाना  45 से 60 मिनट की फिजिकल एक्टिविटी जरूर करें। अगर आपका शरीर व्यायाम की इजाजत नहीं देता है तो एक मिनट में 80 से 100 कदम जरूर टहल लें। वहीं विटामिन्स और मिनरल की कमी न हो इसके लिए प्रत्येक दिन 2 कटोरी हरी सब्जियां और 2 मौसमी ताजे फल जरूर खाएं। वहीं दमा और टीबी जैसे बीमारियों के संक्रमण में भी मास्क से बचाव होता है। मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को भूले नहीं। यह वायरस के साथ संक्रमण से भी बचाव करता है। साथ ही दमा और टीबी जैसी बीमारी में भी मास्क काम आता है।वैक्सीन लेने से शरीर के अंदर एंटीबॉडी का निर्माण होता है। यह नाक या मुंह के पास कोई छलनी या फिल्टर तैयार नहीं करता कि कोई वायरस या बैक्टीरिया अंदर जा ही न सके। इसलिए यह सोच लेना कि वैक्सीनेशन इंफेक्शन को रोक सकता है, गलत है। हां, वैक्सीनेशन इंफेक्शन से होने वाले लक्षण को गंभीर होने से जरूर रोक सकता है।हमारे भोजन में साग-सब्जी या फल 4 अलग-अलग रंगों के हों तो शरीर की जरूरी मिनरल या विटामिन की जरूरत पूरी हो जाती है। जैसे लाल: टमाटर, हरा: अमरूद, मौसमी, पालक, लौकी आदि, पीला: पपीता, संतरा आदि। जिंक के लिए: नट्स (3 से 4 बादाम या 1 मुट्ठी रोस्टेड मूंगफली या 1 अखरोट) रोजाना खाना उचित होगा।