कोविड टीकाकरण : अब 15 से 18 साल तक के किशोरों की बारी,3 जनवरी से होगा टीकाकरण, एक से कर सकेंगे ऑनलाइन पंजीकरण।

कोविड टीकाकरण : अब 15 से 18 साल तक के किशोरों की बारी,3 जनवरी से होगा टीकाकरण, एक से कर सकेंगे ऑनलाइन पंजीकरण।
कोविड टीकाकरण : अब 15 से 18 साल तक के किशोरों की बारी,3 जनवरी से होगा टीकाकरण, एक से कर सकेंगे ऑनलाइन पंजीकरण।

कोविड टीकाकरण : अब 15 से 18 साल तक के किशोरों की बारी,3 जनवरी से होगा टीकाकरण, एक से कर सकेंगे ऑनलाइन पंजीकरण ।

- स्वास्थ्यकर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर व 60 साल से अधिक उम्र वालों को लगायी जायेगी प्रिकॉशन डोज

- संक्रमण से बचने के लिये कोविड अनुरूप व्यव्हार का पालन जरूरी 

मधेपुरा, 30 दिसंबर | कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने नए साल में 15 से 18 वर्ष तक के किशोरों के लिये टीकाकरण का रास्ता साफ कर दिया है। जिले में तीन जनवरी से किशोर-किशोरियों का टीकाकरण शुरू होगा। जिसकी तैयारी जिला स्तर पर भी तेज कर दी गयी है। दूसरी ओर, दोनों डोज ले चुके स्वास्थ्यकर्मी व फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी आगामी 10 जनवरी से प्रिकॉशन डोज लगायी जाएगी। इससे संक्रमण से जुड़ी संभावित चुनौतियों से उन्हें निजात दिलायी जा सकेगी। जिला स्वास्थ्य विभाग ने भी इसे लेकर जरूरी तैयारियां शुरू कर दी है। गौरतलब है कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंकाएं बनी हुई हैं। कोरोना के नये वैरिएंट से बचाव के लिए सरकार व स्वास्थ्य समिति ने सचेत एवं सर्तक रहते हुए कोविड अनुरूप व्यवहारों को अपनाने की सलाह दी है। ताकि, नये वैरिएंट के संक्रमण का प्रसार रोकने में हम सफल हो पायेंगे।  

15 से 18 वर्ष के किशोरों के टीकाकरण के लिए 1 जनवरी से ऑनलाइन पंजीकरण :

15 से 18 साल के किशोरों के लिये टीकाकरण की प्रक्रिया 03 जनवरी से शुरू हो जायेगी। इसे लेकर विभागीय स्तर से फिलहाल विस्तृत दिशा निर्देश प्राप्त नहीं हुआ है। युवाओं के टीकाकरण के लिये कोवैक्सीन का प्रयोग किया जाएगा । वर्ष 2007 व इससे पहले जन्म लेने वाले 15 से 18 साल के किशोर वैक्सीन ले सकेंगे। इसके पूर्व किशोरों को पूर्व की भांति कोविन पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा, जिसकी शुरुआत 1 जनवरी से होगी। वहीं, ऑनस्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी उपलब्ध करायी जायेगी। ताकि टीका लेने में किसी को कोई असुविधा का सामना नहीं करना पड़े। उक्त बातें जिले के प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ विपिन कुमार गुप्ता ने बताई। डी आई ओ ने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर से सुरक्षा के लिए लोग कोविड अनुरूप व्यव्हार का पालन लगातार करते रहें। साथ ही टीके की दोनों डोज अवश्य पूरा करें। 

प्रिकॉशन डोज देने की भी हो रही तैयारी  : 

डॉ. विपिन कुमार गुप्ता ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार 10 जनवरी से स्वास्थ्य कर्मी व फ्रंटलाइन वर्कर्स को प्रिकॉशन डोज देने की भी प्रक्रिया शुरू की जाएगी। प्रिकॉशन डोज टीका की दूसरी डोज लेने के 09 माह यानि 39 सप्ताह के बाद ली जा सकेगी। इसी आधार पर 60 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों को भी प्रिकॉशन डोज दी जायेगी। 60 साल से अधिक उम्र के गंभीर बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति भी अपने चिकित्सक की सलाह पर प्रिकॉशन डोज ले सकेंगे। प्रिकॉशन डोज के लिये लाभुकों को ऑनलाइन व ऑफलाइन मोड में पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। प्रिकॉशन डोज लेने के बाद कोविन पोर्टल के माध्यम से उन्हें सर्टिफिकेट भी उपलब्ध करायी जायेगी। जिसमें इस संबंध में विस्तृत जानकारी दर्ज होगी।

जिले में टीकाकरण की स्थिति -

वैश्विक महामारी कोरोना से सुरक्षा के लिए कोविड-19 का टीका लेना महत्वपूर्ण है। जिले में शत प्रतिशत लोगों के टीकाकरण सुनिश्चित कराने को लेकर स्वास्थ्य विभाग कटिबद्ध है। जिले में लक्षित शत प्रतिशत लोगों के टीकाकरण के लिए लगातार टीकाकरण का महा अभियान चलाकर स्वास्थ्य विभाग लोगों को टीका लगा रहा है। इसी क्रम में गुरुवार को भी 295 टीकाकरण केंद्रों पर अभियान चलाकर टीके की डोज लगायी गयी। पोर्टल के अनुसार शाम 5 बजे तक लगभग 18 हजार डोज लगाए जा चुके थे। टीकाकरण की राह पर बिहार 10 करोड़ खुराक पूर्ण करने के करीब पहुंच चुका है। जिले में टीकाकरण की रफ्तार में तेजी देखने को मिल रही है। कोविन पोर्टल के अनुसार 16 जनवरी से अबतक जिले में कुल 18 लाख 17 हजार से अधिक डोज लगाए जा चुके हैं। लगाए गए कुल डोज में प्रथम खुराक लेने वालों की संख्या लगभग 10 लाख 70 हजार है । वहीं लगभग करीब 7 लाख 47 हजार लोगों ने टीके की दोनों डोज लेकर अपना टीकाकरण पूर्ण कर लिया है।