भोजपुरी फिल्म सांवरिया तोहरे प्यार में की शूटिंग की शुरुवात क्लैप देखकर कुलपति ने किया।

भोजपुरी फिल्म सांवरिया तोहरे प्यार में की शूटिंग की शुरुवात क्लैप देखकर कुलपति ने किया।

भोजपुरी फिल्म सांवरिया तोहरे प्यार में की शूटिंग सोमवार को डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा परिसर में की गई। पूरे दिन यहां गाने की शूटिंग हुई। पूसा विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ रमेश चंद्र श्रीवास्तव ने क्लैप देकर शूटिंग की शुरुआत की।मौके पर उन्होंने कहा कि बिहार का समस्तीपुर शूटिंग के ख्याल से लोकप्रिय जगह है।फिल्म के नायक अमन कुमार ने कहा कि यह फिल्म मील का पत्थर साबित होगा। भोजपुरी सिनेमा की नायिका ऋतु सिंह ने कहा है कि समस्तीपुर में फिल्म शूटिंग का अच्छा माहौल है और लोकेशन के ख्याल से भी सुंदर जगह है। भोजपुरी फिल्म सांवरिया तोहरे प्यार में की शूटिंग करने पहुंची फिल्म नायिका ऋतु सिंह ने कहा कि फिल्म में उनका किराएदार बेहतर है और इसकी कहानी और पटकथा भी अन्य फिल्मों से अलग है। उन्होंने कहा कि बिहार में फिल्म निर्माण की बेहतर संभावना है और यह एक उद्योग का रूप ले सकता है। यहां जरूरत है सरकार को और प्रोत्साहित करने की। रितु सिंह ने कहा बिहार के कई ऐसे कलाकार मुंबई में अपना नाम कमा रहे हैं यहां कला घर-घर में बसी हुई है।

ऋतु सिंह समस्तीपुर के विभिन्न लोकेशन पर चल रही भोजपुरी फिल्म सांवरिया तोहरे प्यार में के शूटिंग के सिलसिले में यहां आई हुई है।फिल्म के निर्देशक संजय सिन्हा ने बताया की पूरी फिल्म समस्तीपुर और आसपास के इलाके में शूट की जाएगी। इस फिल्म में ऋतु सिंह,अमन कुमार, बृजेश त्रिपाठी, अनूप अरोरा,मनीष चतुर्वेदी, सुबोध सेठ मुख्य कलाकार हैं। कैमरा सानू सिन्हा,संगीत अमन और श्लोक का है। रति कल्याण फिल्म के बैनर तले बन रही इस फिल्म के निर्माता शशीकांत कुमार और अनिल कुमार हैं। फिल्म के निर्देशक संजय कुमार सिन्हा ने बताया यह बिल्कुल पारिवारिक फिल्म है। उन्होंने बताया कि अगले साल किस फिल्म को सिनेमाघरों में प्रदर्शित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि समस्तीपुर में उन्हें अच्छे लोकेशन मिले हैं और खूबसूरत फिल्म बन रही है। उन्होंने कहा कि स्थानीय कलाकारों को भी इस फिल्म में तरजीह दी गई है। फिल्म के निर्देशक ने बताया कि बिहार में फिल्म निर्माण की प्रचुर संभावनाएं हैं और यहां अच्छे कलाकार भी हैं सिर्फ और सरकारी मदद की दरकार है। उन्होंने कहा कि सिनेमा उद्योग को और बढ़ावा देने के लिए शासन की ओर से फिल्म निर्माण की दिशा में प्रयास किया जाना चाहिए। समस्तीपुर में कुल 20 दिन की शूटिंग चलेगी