255.5 किलो मीटर रेलखंड के दोहरी कारण की मिली मंजूरी, खर्च होंगे 25 सौ करोड़,

255.5 किलो मीटर रेलखंड के दोहरी कारण की मिली मंजूरी, खर्च होंगे 25 सौ करोड़,

सीतामढ़ी :-   नेपाल के तराई क्षेत्र से गुजरने वाली भारतीय रेलखंड की दोहरी करण कराने की मिली मंजूरी। जिसको लेकर भारत सरकार ने 019-20 के बजट सत्र में निर्माण कार्य को लेकर जिक्र किया गया था। जिसकी मंजूरी देते हुए रेलवे बोर्ड दिल्ली के द्वारा 16 जनवरी 020 को देश के विभिन्न रेल खंडों पर (डबलिंग) दोहरी कारण को लेकर फाइनल सर्वे हेतु इक चिट्ठी जारी किया गया था।


युवा राजद नगर अध्यक्ष तेजस्वी श्रीवास्तव द्वारा प्रेस...

जिसका अब मंजूरी दी गई है। काम को आगे बढ़ते हुए रेल महकमा द्वारा शुक्रवार को नरकटियागंज से दरभंगा वाया सीतामढ़ी तथा सीतामढ़ी से मुजफ्फरपुर वाया रुनी सैदपुर 255.5 किलो मीटर रेलखंड निर्माण का फाइनल लोकेसन सर्वे की मंजूरी को लेकर कागजी प्रक्रिया को आगे बढ़ाया गया। जिसका टेंडर होने के बाद सर्वे का काम पूरा किया जाएगा। एक सवाल पर रेल सूत्र बताते है कि टेंडर के बाद अभियंताओं की टीम यह तय करेगा की पहली रेल लाइन से कितने दूरी पर दूसरी लाइन को तैयार करना है।


तुरकौलिया :-- स्वास्थ्यकर्मियों की टीम ने लगाई चौपाल।

तथा कहां और किस जगह रेल लाइन की गोलाई करना है तथा कहां पर सीधा करना होगा। तब जाकर इसका डिटेल एस्टीमेट सेंसान भोगा। और दोहरीकरण का काम युद्ध स्तर पर पूरा भी किया जाएगा। दोहरी करण पूरा होने के साथ ट्रेनों कि लेट लतीफ से लोगो को मिलेगी छुटकारा। ससमय यात्री अपने गंतव्य को पहुंच सकेंगे। समय की काफी बचत होगी, कम समय में यात्री लंबी दूरी तक सफर कर सकेंगे।

रेल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार होने वाली दोहरी करण में तकरीबन 301 पुल और पुलिया होने तथा 176 शमपार फाटक होंगे, जिसमे बड़े पुलो की संख्या 100 होगी वहीं छोटे पुलिया 201 होंगे। एक सवाल पर उन्होंने बताया कि सर्वे होने में तकरीबन दो माह का समय लग सकता है। उसके बाद आगे की प्रक्रिया शुरू किया जाएगा।


सीतामढ़ी :- शिक्षा विभाग द्वारा बच्चो के बीच कराया...