पूर्वी चम्पारण : नए कानून से लोगो को कराया गया अवगत, ईधर झरौखर ओपी से उत्कृष्ट होकर बना थाना 

अब हत्या, लूट, बलात्कार सहित अन्य कई धाराएं बदली। अब घर बैठे हो सकेगी ई-एफआईआर। आज से बदल रहे कई क़ानूनी धाराओं की जानकारी देने के लिए विभिन्न थाना के प्रांगन में क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, प्रबुद्धजनों के साथ बैठक की गयी। सभी लोगो ........

पूर्वी चम्पारण : नए कानून से लोगो को कराया गया अवगत, ईधर झरौखर ओपी से उत्कृष्ट होकर बना थाना 

अब हत्या, लूट, बलात्कार सहित अन्य कई धाराएं बदली। अब घर बैठे हो सकेगी ई-एफआईआर। आज से बदल रहे कई क़ानूनी धाराओं की जानकारी देने के लिए विभिन्न थाना के प्रांगन में क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, प्रबुद्धजनों के साथ बैठक की गयी। सभी लोगो को तीन नये आपराधिक कानून के बारे में जानकारी दी गई। पीड़ित को एफआईआर की एक प्रति मुहैया कराए जाने की जानकारी भी दी गयी।

 बताया गया कि मेडिकल से संबंधित मामले में चिकित्सक को एक सप्ताह के अंदर जख्म प्रतिवेदन देना होगा। 90 दिनों के अंदर एफआईआर के जाँच की प्रगति की सूचना पीड़ित को देना है। बताया कि अब ई-समन, ई-नोटिस, ई-ट्रायल आदि के माध्यम से मामले को तेजी से निष्पादित किया जाएगा। बताया गया कि अब नए कानून में हत्या का पहले का धारा 302 को बदलकर अब 103, मारने की साज़िश का धारा पहले 307 था अब नया धारा 109, अपहरण डकैती साइबर अपराधी क्राइम पहले 379 के तहत जो नया धारा 303/2, मोटरसाइकिल चोरी छिनाझपटी, चोरी पहले का धारा 392 अब नया धारा 309/4, डकैती पहले का धारा 395 अब नया धारा 310/2, रंगदारी नाबालिक प्रेम विवाह पोक्सो एक्ट पहले का धारा 366/ए अब नया धारा 96, पहले का धारा 107 नया धारा 126, पहले का धारा 144 नया धारा 163 सहित पहले IPC और CRPC था अब इसके बदले भारतीय संहीता BNS हो गया है।

इससे पहले सिकरहना डीएसपी अशोक कुमार द्वारा झरौखर थाना का उद्घाटन किया गया। उन्होंने बताया कि झरौखर पहले ओपी था इसको उत्कीर्ष्ट कर थाना का दर्जा दिया गया है। अब इस थाने का प्राथमिकी भी इसी थाने में होगी। पहले इसके लिए घोड़ासहन को ट्रांसफर किया जाता था। मौके पर थानाध्यक्ष, जनप्रतिनिधि व सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।