चुनाव से पहले अगर आनंद मोहन सिह की रिहाई नहीं हुई तो, सरकार को भुगतने पड़ेंगे अंजाम: राजपूत करनी सेना

चुनाव से पहले अगर आनंद मोहन सिह की रिहाई नहीं हुई तो, सरकार को भुगतने पड़ेंगे अंजाम: राजपूत करनी सेना

सागर कुमार,सीतामढ़ी,,
सीतामढ़ी :-  राजपूत करणी सेना और फ़्रेंड्स ऑफ आनंद के सदस्यों ने संयुक रूप से किया पूर्व सांसद व साहित्यकार आनंद मोहन के रिहाई के लिए मशाल जुलूस निकाला। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता करणी सेना के जिला अध्यक्ष आनंद बिहारी सिंह के नेतृत्व में किया गया। वही मशाल जुलुश का नेतृत्व अमिताभ गुंजन उर्फ चुन्नू के द्वारा किया गया। यह मशाल जुलूस ललित आश्रम से बाईपास तक निकाली गई। इस दौरान करणी सैनिकों ने जमकर नारेबाजी की, आनंद मोहन निर्दोष है।सारा सिस्टम का दोष है, जैसे नारे लगाए गए।


पूर्वी चम्पारण के कोरोना संक्रमितों की ट्रेवल हिस्ट्री

इस दौरान बिहार सरकार एवं केंद्र सरकार से हस्तक्षेप कर अविलंब बिहार विधानसभा चुनाव से पूर्व आनंद मोहन की रिहाई की मांग की। आपको बता दें विधानसभा चुनाव पूर्व पूर्व सांसद व साहित्यकार आनंद मोहन की रिहाई नहीं होने पर नीतीश कुमार को बिहार विधानसभा चुनाव में परिणाम भुगतने की भी चेतावनी दी गई।


कोरोना महामारी की आड़ में शिक्षा का निजीकरण

मौके पर युवाओं के लोकप्रिय अमिताभ गुंजन चुन्नू, विध्यसनी कुँवर, प्रदेश उपाध्यक्ष अभय सिंह, मुकेश सिंह ,सुधीर रामपुरी ,डॉ अमर नाथ सिंह उपाध्यक्ष बसंत सिंह,प्रीतेश सिंह पिंटू,आयुष सिंह,अशोक सिंह अमरेश मुखिया, रोहित सिंह सूर्यवंशी,प्रभास सिंह बिट्टू सिंह मुकेश सिंह रौशन सिंह ,रुषु सिंह आदर्श सिंह राणा सिंह ,अमलेश सिंह समेत दर्जनों करनी सैनिक मौजूद रहे