पुर्वी चम्पारण में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद, क्वारेन्टीन को लेकर सिस्टम पर उठने लगे सवाल

पुर्वी चम्पारण में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद, क्वारेन्टीन को लेकर सिस्टम पर उठने लगे सवाल

मिठु गुप्ता कि रिपोर्ट, मोतिहारी।
शिकारगंज के कोरोना पॉजिटिव तीनों मरीज के सैंपलिंग के बाद कवारेंटाइन को लेकर सिस्टम पर सवाल उठना शुरू हो गया है। जब तीनों का सैंपल सदर अस्पताल में लेने के बाद चिरैया स्थित क्वारेंटाइन सेंटर भेजा गया। क्वारेंटाइन सेंटर में नहीं रहकर अपने घर कैसे चला गया। जब कि तीनो संक्रमित आपस मे रिश्तेदार है और  किसी भी अधिकारी ने इसकी सुधि नहीं ली।


पूर्वी चम्पारण : अपाची बाइक सवार की सड़क दुर्घटना में...

तीनों अपने सास ससुर को छोड़ने मोतिहारी के एक मोहल्ले में भी गए थे। घर में छठी व हनुमान आराधना का भी आयोजन हुआ था। तीनों कितने लोगों से मिले भी थे। रविवार की शाम गांव में पॉजिटिव मरीज मिलने के बावजूद शादी के लिए बारात कैसे आ गया . हलाकी शादी मे लगभग 30 लोग ही शामिल हुए थे.और सुबह मोटरसाइकिल से ही लडकी कि विदाई हुई ।


जनप्रतिनिधियों को दी गई परिवार नियोजन के बारे में...

क्या इसकी जानकारी स्थानीय प्रशासन को थी। क्या लॉकडाउन में शादी व अन्य आयोजनों के लिए परमिशन लिया गया था। यह सब फिलहाल अबूझ पहेली बनी हुई है। मामूली से गलती ने कितने लोगों की जिंदगी को दांव पर लगा दिया है। इसके लिए दोषी किसे माना जाएगा सिस्टम को या फिर कुछ और को।