शिवहर : जिला पदाधिकारी मुकुल कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में मार्च 2022 समाप्ति पर मासिक डीएलसीसी एवं डीएलआरसी की बैठक

शिवहर : जिला पदाधिकारी मुकुल कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में मार्च 2022 समाप्ति पर मासिक डीएलसीसी एवं डीएलआरसी की बैठक

(शिवहर) समाहरणालय के संवाद कक्ष में जिला पदाधिकारी मुकुल कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में मार्च 2022 समाप्ति पर मासिक डीएलसीसी एवं डीएलआरसी की बैठक आयोजित की गई। बैठक में अपर समाहर्ता शंभू शरण, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी शंभू कुमार, बैंकिंग उप समाहर्ता कुमार उमाशंकर, एलडीएम रवि शंकर प्रसाद, जिला विकास प्रबंधक /नवार्ड,  क्षेत्रीय प्रबंधक एवं जिला स्तरीय पदाधिकारी तथा बैंक शाखा प्रबंधकों के द्वारा भाग लिया गया। इस बैठक में ऋण जमा अनुपात, वार्षिक साख योजना, किसान क्रेडिट कार्ड, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, जीविका समूह का क्रेडिट लिंकेज, सर्टिफिकेट वाद, मुद्रा योजना आदि बिंदुओं पर चर्चा की गई। मार्च त्रेमास की समाप्ति पर जिले का साख अनुपात 69.40% रहा है। जो राज्य औसत 52.96% से 16.44% अधिक है। जिला पदाधिकारी द्वारा इस पर प्रसन्नता व्यक्त की गई तथा अच्छा प्रदर्शन करने वाले बैंकों को और अधिक प्रयास करने हेतु भी निर्देशित किया गया है। वार्षिक साख योजना के तहत जिले की उपलब्धि 82.75% रही। जिला पदाधिकारी द्वारा क्षेत्रवार लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए शत-प्रतिशत लक्ष्य की उपलब्धि हेतु सभी शाखा प्रबंधकों को विशेष पहल करने हेतु निर्देशित किया गया है। वही किसान क्रेडिट कार्ड योजना में सभी बैंकों के प्रदर्शन को संतृप्तता स्तर तक लाने एवं नवीकरण हेतु लंबित आवेदनों पर शीघ्र कार्रवाई करने हेतु निर्देशित किया गया है। जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि जीविका समूह का क्रेडिट लिंकेज करना सरकार की प्राथमिकताओं में है। जिसमे समाज के सबसे अंतिम पायदान के लोग शामिल है। साथ ही जीविका समूह में सबसे कम एनपीए का मामला पाया जाता है ,जिला पदाधिकारी द्वारा सभी शाखा प्रबंधकों को कैंप लगाकर क्रेडिट लिंकेज करने हेतु निर्देशित किया गया है। प्रधानमंत्री रोजगार योजना कार्यक्रम के तहत शाखा प्रबंधकों को निर्देशित किया गया कि शाखा स्तर पर लंबित आवेदनों का शीघ्र निष्पादन कर पोर्टल पर अपलोड करें। वही 7 मई एवं 21 तारीख को सर्टिफिकेट वाद के मामलों में नीलामी पदाधिकारी के समक्ष रजिस्टर 9 एवं 10 का मिलान किया जाता है सभी प्रबंधक  या अपने प्रतिनिधि को इस तारीख को अनिवार्य रूप से भेजकर रजिस्टर का मिलान करवा ले। डीएम द्वारा सभी शाखा प्रबंधकों को सचेत किया गया है कि 10 दिनों के बाद जिला स्तर से टीम बनाकर सभी बैंक का निरीक्षण कराया जाएगा। बैंकों में सीसीटीवी की व्यवस्था नहीं पाए जाने एवं बैंकों में बिचौलियों की मौजूदगी पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।