बुधवार की अहले सुबह आई भूकंप से सीमावर्ती इलेके में दहशत का माहौल

बुधवार की अहले सुबह आई भूकंप से सीमावर्ती इलेके में दहशत का माहौल

सागर कुमार, सीतामढ़ी,,
सीतामढ़ी :- बुधवार की अहले सुबह भूकंप ने फिर अपनी दस्तक देकर सीतामढ़ी सहित बिहार के कई जिलों में लोगो के बीच फिर दहशत का माहौल कायम कर दिया है। सुबह के 5:18 में आई भूकंप लोगो के बीच फिर एक डर का माहौल कायम कर दिया है। इस दौरान कुछ लोग अपने घर में जगे हुए थे। तो कुछ सोए हुए थे। तब यह भूकंप के के झटके आसपास के सीमावर्ती जिलों में महसूस किए गए। हालांकि अभी कहीं से भी जान और माल के नुकसान की सूचना नहीं है। सूत्रों से मिली सही एक जानकारी के अनुसार इसका केंद्र नेपाल बताया जा रहा है। रिक्टर पैमाने पर इसे 5.3 मापा गया। इसका केंद्र नेपाल की राजधानी काठमांडू के पास सिंधुपाल चौक पर बताया गया है।


रामगढ़वा: रमजान का महीनों का रोजा अपने घरों पर मनाए...

दहशत के माहौल में तब्दील हुआ नेपाल की राजधानी काठमांडू :-

भूकंप के झटके की तीव्रता रिक्टर स्केल पर नेपाल के भूकंप मापी केंद्र ने 5.3 बताया है। भूकंप के झटके से एकबार फिर नेपाल की राजधानी काठमांडू में दहशत का माहौल है। लोग घरों से भागकर सड़कों पर निकल गए। इसको लेकर अफरातफरी का माहौल रहा। हालांकि अभीतक इस झटके से किसी भी तरह के नुक़सान की कोई सूचना नहीं है। नेपाल के साथ साथ बिहार के सीमावर्ती जिले सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी व पश्चिमी चंपारण, सहरसा आदि जिलों में भी महसूस किए गए है। बताया जा रहा है कि भूकंप के समय अधिकांश लोग सो रहे थे। इधर बाढ़, कोरोना का कहर के बाद भूकंप के झटके से लोगों में दहशत का माहौल ज्यादा बन गया है। 


पूर्वी चंपारण :- पताही प्रखंड कार्यालय परिसर में घुसा...

जिस वक्त भूकंप आया उस समय आधे से ज्यादा लोग गहरी नींद में थे। हालांकि, जो लोग घरों में जगह थे। वह बाहर निकल गए। हालांकि, जिले में कहीं भी भूकंप से जान- माल की क्षति नहीं हुई है। लोग दहशत में हैं। भूकंप का केंद्र नेपाल का काठमांडू घाटी बताया गया हैं। नेपाल में जब भी भूकंप आता है। इसका असर सीमावर्ती इलाकों में पड़ता हैं।