सीतामढ़ी :- रेलवे की भर्ती प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी होगी, अभ्यर्थी किसी प्रकार के झांसे में ना आएं

सीतामढ़ी :- रेलवे की भर्ती प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी होगी, अभ्यर्थी किसी प्रकार के झांसे में ना आएं

सागर कुमार, चम्पारण टुडे, सीतामढ़ी (ब्यूरो)

सीतामढ़ी :- आरआरबी ने सीईएन आरआरसी 01/2019 - लेवल 1 भर्ती के लिए कंप्यूटर आधारित परीक्षा आयोजित करने के लिए एक प्रतिष्ठित कंपनी को नियुक्त किया है जिसमें 1.1 करोड़ से अधिक उम्मीदवार उपस्थित हो रहे हैं। भारतीय रेल के 12 क्षेत्रीय रेलवे पर सीबीटी के तीन चरण पहले ही पूरे किए जा चुके हैं तथा 19 सितंबर 022 से चौथा चरण शुरू हो गया है।

किसी भी प्रकार की अनियमितता को रोकने और समाप्त करने के लिए सिस्टम में उच्चस्तरीय सुरक्षा प्रणाली उपलब्ध करवाई गई हैं। उम्मीदवारों को केंद्र का आवंटन कंप्यूटर लॉजिक के माध्यम से रेंडम रूप से किया जाता है। साथ ही, एक बार जब उम्मीदवार परीक्षा केंद्र पर रिपोर्ट करते हैं और अपना पंजीकरण कराते हैं, तो कंप्यूटर लैब और सीटों का आवंटन भी रेंडम रूप से ही किया जाता है। प्रश्न पत्र अत्यधिक इन्क्रिप्टेड रूप में होता है, और उम्मीदवार के अलावा कोई भी प्रश्न पत्र एक्सेस नहीं कर सकता । परीक्षा प्रारंभ होने के बाद उम्मीदवार द्वारा जब कंप्यूटर में दूसरा और अंतिम लॉगिन करने के उपरांत ही प्रश्न पत्र का अंतिम डिक्रिप्शन होता है।

उम्मीदवारों को उपलब्ध कराए गए प्रश्न पत्र में प्रश्नों का क्रम एवं प्रश्नों के उत्तर हेतु उपलब्ध चार विकल्प भी रेंडम रूप में होता है। परीक्षा केंद्र में प्रत्येक उम्मीदवार के पास यूनिक प्रश्न पत्र होता है तथा किसी भी 02 उम्मीदवारों का प्रश्न पत्र में प्रश्नों एवं उनके विकल्पों का क्रम एक समान नहीं होता है । इस प्रकार प्रश्न का क्रम मास्टर प्रश्न पत्र के क्रम से पूरी तरह भिन्न होता है । इसलिए यदि कोई दावा करता है कि वह किसी उम्मीदवार को उत्तर कुंजी प्रदान कर सकता है तो यह पूरी तरह से गलत, आधारहीन और भ्रामक है।

यह परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड सिस्टम होने के कारण पूरी तरह पारदर्शी है । इसमें किसी भी एक व्यक्ति द्वारा किसी उम्मीदवार को एलॉट किए गए सीट, प्रश्नों का क्रम आदि की जानकारी प्राप्त नहीं की जा सकती है ।

परीक्षा का संचालन सीसीटीवी की कड़ी निगरानी में संपन्न होता होता है जहां प्रत्येक परीक्षार्थी की पुरी रिकार्डिंग की जाती है । इसके अलावा परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए उम्मीदवारों के साथ-साथ परीक्षा संचालन एजेंसी के कर्मचारियों की गतिविधियों की निगरानी के लिए रेलवे द्वारा प्रत्येक केंद्र पर अपने कर्मचारियों एवं रेल सुरक्षा बल को तैनात किया जाता है ।

प्रथम बार लेवल-1 परीक्षा में उम्मीदवारों के लिए आधार सत्यापन की शुरूआत की गई थी । पहले से मौजूद सुरक्षा उपायों के अलावा रेल भर्ती बोर्ड द्वारा भर्ती प्रक्रिया के सभी चरणों में उम्मीदवारों का सत्यापन आधार कार्ड आधारित बायोमेट्रिक्स द्वारा कराया जाता है ।पारदर्शिता बनाए रखने के लिए परीक्षा संचालन एजेंसी के पर्यवेक्षकों को भी नियमित अंतराल पर बदला जाता है ।

रेलवे उम्मीदवारों से एक बार पुनः अवैध रूप से नियुक्ति के झूठे वादों के साथ उम्मीदवारों को गुमराह करने की कोशिश करने वाले दलालों से सतर्क रहने का अनुरोध करती है। उक्त जानकारी ,,वीरेन्द्र कुमार,,मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने दिया है।