सीतामढी :- जन स्वराज कि ललकार बदलेगा अब बिहार

सीतामढी(मेजरगंज) :- प्रखंड मुख्यालय बाजार स्थित मलाही रामजानकी मठ पर सोमवार को जन सुराज की एक बैठक बुलाई गई। बैठक की अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष लखिन्द्र सिंह द्वारा किया गया। बैठक मे उपस्थित वक्ताओं ने पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष प्रशांत किशोर की आगामी रणनीति पर प्रकाश डालते हुए बताया की अबकी 2 अक्टूबर गाँधी जयंती के सुअवसर पर पार्टी का गठन कर दिया जाएगा, साथ ही पार्टी 2025 बिहार विधान सभा का चुनाव सभी 243 सीटों पर लड़ेगी। सभा का संचान करते हुए आसनारायण राय ने कहा की ..........

सीतामढी :- जन स्वराज कि ललकार बदलेगा अब बिहार

सागर कुमार, चम्पारण टुडे, (सीतामढ़ी ब्यूरो)

सीतामढी(मेजरगंज) :- प्रखंड मुख्यालय बाजार स्थित मलाही रामजानकी मठ पर सोमवार को जन सुराज की एक बैठक बुलाई गई। बैठक की अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष लखिन्द्र सिंह द्वारा किया गया। बैठक मे उपस्थित वक्ताओं ने पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष प्रशांत किशोर की आगामी रणनीति पर प्रकाश डालते हुए बताया की अबकी 2 अक्टूबर गाँधी जयंती के सुअवसर पर पार्टी का गठन कर दिया जाएगा, साथ ही पार्टी 2025 बिहार विधान सभा का चुनाव सभी 243 सीटों पर लड़ेगी। सभा का संचान करते हुए आसनारायण राय ने कहा की जन सुराज का अर्थ जनता का सुन्दर राज होता है। आगामी विधान सभा चुनाव मे हमारी पार्टी समूचे बिहार की सभी सीटों पर लड़ते हुए बहुमत की सरकार बनाएगी। समाजसेवी अविनाश चंद्र ने कहा की प्रशांत किशोर ने जब जब ठाना है, तब तब व्यापक परिवर्तन हुई है। इस बार भी बिहार मे परिवर्तन तय है। स्थानीय प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. एस पाण्डेय ने बताया की हम बिहारी दशकों से ठगाते आये हैं। अब सत्तालोलुप पार्टियों को पटखनी देने का वक्त आ गया है। बिहार की सभी स्वार्थी और सांप्रदायिक पार्टियों को अब जड़ से उखाड़ दिया जाएगा। पंसस मदन महतो ने कहा की हम बिहारियों को रोजगार के लिए दूसरे प्रान्त पर निर्भर रहना पड़ता है। साथ ही हमें तुच्छ नजर से भी देखा जाता है। अब हम इसे नहीं सहेंगे और प्रशांत किशोर को बिहार की कमान सौंप कर अपने सूबे मे ही कल कारखाने की स्थापना कराई जाएगी। कार्यक्रम के अंत में उपस्थित लोगों ने जन सुराज की सदस्यता ग्रहण की। मौके पर बबलू पाण्डेय, प्रखंड संयोजक अमरनाथ ठाकुर, राजीव साह, नीरज झा, अमरनाथ साह, संतोष राम, रामबालक साह, सरपंच संतोष सिंह, रामाशंकर सिंह, राजीव साह, हेमा देवी, रामा देवी, सुशीला देवी समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे।