अरेराज सोमेश्वर महादेव मंदिर में श्रावणी मेला में नही होगी जलढ़री। 6 जुलाई से 3 अगस्त तक बंद रहेगा कपाट।

अरेराज सोमेश्वर महादेव मंदिर में श्रावणी मेला में नही होगी जलढ़री।  6 जुलाई से 3 अगस्त तक बंद रहेगा  कपाट।

अशुतोष कुमार तिवारी, अरेराज पूर्वी चम्पारण


यह भी पढ़े : दारू विरुद्ध अभियान में कई भट्ठियां ध्वस्त

बिहार के प्राचीन सोमेश्वर नाथ महादेव मंदिर श्रावणी मेला के आयोजन पर एक माह तक के लिए रोक लगा दी गई है मंदिर के महंत व स्थानीय प्रशासन के पुलिस के वरीय अधिकारी के साथ हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि कोरोना के संक्रमण को रोकने व कांवरियों को जीवन रक्षा को लेकर जनहित में मंदिर के कपाट सावन में बंद रहेगा और श्रद्धालु जलाभिषेक नहीं करेंगे ।

अध्यक्षता कर रहे एसडीओ धर्मेंद्र कुमार मिश्रा ने कहा कि सावन मास में बाबा का जलाभिषेक करने के लिए लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं प्रतिवर्ष पहुंचते हैं भक्तों की प्रतिशत भीड़ के बीच फिजिकल डिस्टेंसिंग को बनाए रखना संभव प्रतीत नहीं होता है दर्शन पूजन के क्रम एक भी करोना पॉजिटिव श्रद्धालु भीड़ के बीच मंदिर में अगर प्रवेश कर जाता है तो हजारों की संख्या में लोगों कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं ।


यह भी पढ़े : प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी की अपील का मेहसी मे भी दिखा व्यापक असर ।

इस स्थिति में जन सुरक्षा का ख्याल करते हुए इस साल के श्रावणी मेला के आयोजन पर रोक लगाने का निर्णय लिया गया है नदियों से जल भोजी कर कांवरियों अरेराज बाबा के दरबार तक नहीं पहुंच सकेंगे इस को लेकर जिले के सभी एसडीओ एसडीपीओ सहित सभी वरीय पदाधिकारियों को पत्र भेजकर सूचित किया कि  6 जुलाई से 3 अगस्त तक बंद रहेंगे मंदिर की प्रशासनिक अधिकारियों के साथ हुई बैठक में लिया गया निर्णय।

ज्योति प्रकाश ने कहा कि सुरक्षा कारणों को लेकर सावन में मंदिर के पट को बंद रखना उचित होगा महंत रविशंकर गिरी ने कहा कि करोना  को देखते हुए बैठक में लिए गए निर्णय का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा इस साल के सावन का शुभारंभ 6 जुलाई से जबकि समापन 3 अगस्त को होगा लेकिन मंदिर का पट बंद रहेगा बैठक में डी सी एल आर संजय कुमार एसडीओ सतीश रंजन वीडियो मदन कुमार , वकील सिंह कार्यपालक पदाधिकारी संदीप कुमार आदि प्रमुख थे


यह भी पढ़े : सुगौली: सुगांव कोरेन्टीन सेंटर में ठहरे लोगों ने व्यव्यस्था को लेकर जम कर किया हंगामा।