वर्षों से उपेक्षित है ये गाँव, बारिश के मौसम में झील बन जाता है गाँव की सड़क

वर्षों से उपेक्षित है ये गाँव, बारिश के मौसम में झील बन जाता है गाँव की सड़क

रिपोर्ट सुरेश कुमार गुप्ता जयनगर अनुमण्डल/मधुबनी


तुतकौलिया के माधोपुर में डूबने से 10 वर्षीय बालक की...

बिहार के मधुबनी जिला के खजौली विधानसभा क्षेत्र के विधायक का कच्चा चिट्ठा कुआढ  गाँव  वाड नं 01में देखने को मिला। यहाँ ऐसा नजारा हम आपको दिखाने जा रहे है, जो अपने दर्द कि दास्ता खुद बयां कर रही है। यहां की सड़के बारिश होते ही गढ्ढे में तबदिल हो रही है, जो जानलेवा बन चुकी है। मगर हालात में सुधार होता नही दिख रहा है।


पूर्वी चम्पारण:-- चंद रुपयों के लिए युवक ने राजमिस्त्री...

लोगों के लिए बुनियादी सुविधाओ के दावा करने वाले स्थानीय विधायक की सारे चिट्ठे ये सडक के गढ़े खोल कर रख देती है। यहाँ लोगों ने अपनी तकलीफ बयां करते हुए कहा, कि आज चुनाव के बाद बर्षो बीत जाने के बाद भी अपनी बदहाली पर ये सड़कें आँसू बहा रही है।

यहाँ के लोगों ने विधायक व जनप्रतिनिधिओ के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए बताया की इसकी शिकायत हमने स्थानीय बिधायक सीताराम यादव व मुखिया से कई बार किया, लेकिन सड़क कि हालात आज भी जस की तस है।


मोतिहारी के जिलाधिकारी ने नवयुवक पुस्तकालय में बैडमिंटन...

स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि हमारे विधायक जितने के बाद दर्शन ही नही देते हैं कभी हमारे क्षेत्र में। सिर्फ वोट के समय ही हमारी याद उनको आती है। उन्होंने ये भी कहा की इस वैश्विक महामारी में कोरोना काल मे हमारी सुध तक लेने को नही आये एक बार भी हमारे स्थानीय विधायक या अन्य कोई जनप्रतिनिधि।


सुगौली :--बाढ़ बनते जा रही है समस्या, कई नए इलाकों...

हर साल बढ़ में हमारा जीना मुहाल हो जाता है बाढ़ के कारण। फिर भी हमारी तकलीफ आज तक दूर नही हुई
वहीं, स्थानीय जागेश्वर महरा ने बताया कि ये इस गाँव का अब सबसे गंभीर मुद्दा है। कोई भी सांसद, विधायक या जनप्रतिनिधि सुध नहो ले रहा है। कई सरकार आयी और गयीं, पर ये प्रॉब्लम आज भी गाँव में है ही। 


जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक संपन्न, सर्वसम्मति...


मोके पर मौजूद स्थानीय लोगों ने इसकी शिकायत मुखिया सोनी देवजी किया तो उनके प्रतिनिधि फूल सिंह एवं सरपंच प्रतिनिधि हनुमान यादव ने आश्वासन दिया है कि हम इस समस्या को अपने देख रेख में ले रहे हैं ।वही वार्ड सदस्य राज कुमार दास एवं सचिव साधु दास दोनों मौन बने हुए हैं ।